उत्तराखंड

देवभूमि में बारिश ने बरपाया कहर, अब तक 4 की मौतें, 7 हैं लापता

उत्तराखंड में भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से जन-जीवन प्रभावित है। राज्य में अब तक आपदा से 4 लोगों की मौतें हो चुकी है, जबकि 13 से अधिक लोग लापता बताए जा रहे हैं। वहीं टिहरी गढ़वाल से दुखद खबर आ रही, जहां एक ही परिवार के 7 लोग मलबे में दब गए, जिनमें से दंपति का शव बरामद कर लिया गया है लेकिन पांच सदस्य अभी भी मलबे में दबे हैं।

शुक्रवार देर रात से हो रही वर्षा से उत्तराखंड में जन-जीवन प्रभावित है। देहरादून के मालदेवता क्षेत्र और पौड़ी के यमकेश्वर में बादल फटा है। यमकेश्वर और टिहरी में मकान के मलबे में मलबे में दबकर तीन की मौत, चार के दबे होने की सूचना है। वहीं अभी तक कुल सात लोग लापता हैं।

बारिश बनी मुसीबत : जाखन नदी का जलस्तर बढ़ा, ऋषिकेश-डोईवाला के बीच यातायात रोका, रानीपोखरी का नवनिर्मित पुल खोला

शुक्रवार की सुबह से शनिवार सुबह तक लगातार हुई बारिश और रायपुर क्षेत्र में बादल फटने की घटना के बाद सौंग नदी में उफान आ गया, जिससे बाढ़ का पानी नेपाली फार्म से ठाकुरपुर गांव में घुस गया। तड़के करीब पांच बजे आए उफान से गांव के 50 से अधिक घर जलमग्न हो गए। प्रभावित परिवारों ने छत और ऊंची जगहों पर चढ़ कर जान बचाई। वहीं बाढ़ के पानी से खाद्य सामग्री, कपड़े, बिस्तर आदि खराब हो गए।



Related Articles

Back to top button