Buy traffic for your website
राष्ट्रीय

दिल्ली में चार मंज़िला इमारत में लगी भीषण आग अब तक 27 लोगों की मौत, कई घायल

दिल्ली के मुंडका इलाके में शुक्रवार को चार मंजिला इमारत में भीषण आग लगने से 27 लोगों की मौत हो गई। देर रात तक इमारत में कई लोग फंसे हुए थे। उन्हें निकालने की कोशिश की जा रही थी। आग इतनी भयावह है कि कई मकान भी इसकी चपेट में आ गए। मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका है। पुलिस ने कंपनी के मालिक वरुण गोयल और हरीश गोयल को गिरफ्तार कर लिया है।

आग लगने का कारण अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन ये माना जा रहा है कि इसकी वजह शॉर्ट सर्किट हो सकती है। चश्मदीदों के मुताबिक आग पहली मंज़िल पर लगी थी और शुरुआत में आग बहुत तेज़ नहीं थी और सिर्फ़ धुआं उठ रहा था। चश्मदीद ये दावा भी करते हैं कि अग्निशमन दल को घटनास्थल तक पहुंचने में घंटे भर का समय लग गया था।

ब्रेकिंग न्यूज़ : भीड़ को देखते हुए, अब चारों धामों में नहीं होंगे VIP दर्शन

अधिकतर कर्मचारी इमारत की पहली और दूसरी मंज़िल पर फंसे थे। जीने में धुआं भर जाने के कारण कर्मचारी सीढ़ियों के रास्ते नीचे नहीं आ पा रहे थे। स्थानीय लोगों ने एक क्रेन की मदद से फंसे हुए लोगों को निकालने की कोशिश की। सीढ़ियों के सहारे भी लोगों को नीचे उतारा गया। संसाधनों की कमी की वजह से समय रहते लोगों को निकाला नहीं जा सका। आग में फंसे कई लोग ऊपर से ही नीचे भी कूद गए, जिससे भी लोगों की जान गई। इमारत में ज्वलनशील पदार्थ होने के कारण आग तेज़ी से फैलती चली गई। यही वजह रही कि आग बुझाने में छह घंटे से अधिक का समय लगा। आग लगने की इस घटना ने कई गंभीर सवाल खड़े किए हैं। सबसे बड़ा सवाल यही है कि इतनी बड़ी इमारत में बिना अग्निशमन विभाग की एनओसी के दफ्तर कैसे चल रहे थे। घटना का पूरा सच जांच के बाद ही सामने आएगा। लेकिन अभी यहां लापरवाहियां स्पष्ट नज़र आ रही हैं। ये लापरवाहियां बिल्डिंग मालिक ने भी की हैं और प्रशासन ने भी और कंपनियों ने भी जिनके दफ़्तर यहां थे।



Related Articles

Back to top button