उत्तराखंडहरिद्वार

उत्तराखंड: बंदूक की नोक पर अश्लील वीडियो बनाकर युवती का रेप किया, आरोपी मां-बेटे सहित फूफा पर भी मुकदमा दर्ज

उत्तराखंड की बेटी के साथ दिल्ली एनसीआर में घिनौना कृत्य किया गया है. यहां असलहे की नोंक पर युवक ने युवती को अपनी हवस का शिकार बनाया। मामला हरियाणा के गुरुग्राम में दर्ज किया गया था, लेकिन शुरुआती घटनास्थल हरिद्वार का होने के चलते गुरुग्राम पुलिस ने मामला हरिद्वार की रानीपुर कोवताली को ट्रांसफर कर दिया है. रानीपुर कोतवाली ने आरोपी युवक, उसकी मां और फूफा के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है। हालांकि अभीतक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. हरिद्वार के रानीपुर कोतवाली क्षेत्र की रहने वाली युवती ने गुरुग्राम पुलिस को दी शिकायत में बताया कि आरोपी का नाम कपिल सिंह पुत्र अनिल निवासी गांव श्यामपुर कांगड़ी है।

दु:खद खबर : यहां शादी की खुशियां मातम में बदली, दूल्हे के पिता सहित 3 स्‍वजनों की मौत

आरोप है कि कपिल सिंह अक्सर स्कूल आते-जाते समय उसे परेशान किया करता था. युवती ने परिजनों ने आरोपी युवक के परिजनों को इसकी बात की शिकायत भी की थी, लेकिन उन्होंने अपने बेटे को नहीं समझाया और उसी का साथ दिया. आरोप है कि उसके बाद भी युवक उसे परेशान करता रहा और साल 2019 में उसे घर पर अकेला पाकर बंदूक की नोंक पर दुष्कर्म किया और अश्लील वीडियो बना ली. इसके बाद अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर आरोपी का जब भी मन करता वो उसकी साथ जबरन संबंध बनाता. आरोप है कि आरोपी ने अपने फूफा मनोज चौहान से भी मुलाकात कराई, जिसके बाद फूफा ने भी 2019 में उसके साथ जबरदस्ती करनी चाही. युवती की शिकायत के मुताबिक इसी साल वह गुरुग्राम में अपनी बहन के घर चली गई. वहीं मई महीने में कपिल भी गुरुग्राम पहुंच गया और डरा कर उसे होटल के कमरे में ले गया, जहां उसने फिर से उसकी अस्मत लूटी।

इसके बाद आरोप कपिल का हौसला बढ़ता गया. जुलाई में वो पीड़िता को गाजियाबाद यूपी ले गया, जहां उसका फूफा मौजूद था. यहां आरोपी और उसके फूफा ने जबरदस्ती कुछ कागजात पर उसके साइन करा दिए और शादी होने की बात कही. आरोप है कि तब भी फूफा ने उसके साथ जबरदस्ती करनी चाही.अगसत माह में फिर से गुरुग्राम पहुंचे कपिल ने उसे होटल में ले जाकर दुष्कर्म किया और नौ नवंबर को कपिल सिंह की मां सुनीता ने मोबाइल फोन पर संपर्क कर उसे कौशाम्बी मेट्रो स्टेशन दिल्ली बुलाया, जहां पहुंचने पर जबरन कार में बैठाकर हरिद्वार ले जाने लगे, लेकिन वह जैसे तैसे बच निकली. गुरुग्राम पुलिस ने प्रारंभिक घटनास्थल हरिद्वार का होने के चलते केस यहां ट्रांसफर कर दिया। कोतवाली प्रभारी रमेश तनवार ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

Related Articles

Back to top button