राष्ट्रीय

यहाँ जहरीली शराब पीने से 24 की मौत, 40 अस्पताल में भर्ती

अहमदाबाद: गुजरात में जहरीली शराब से मरने वालों का आंकड़ा 24 पहुंच गया है। बोटाद के बरवाला के अलावा मरने वालों में अहमदाबाद के 4 लोग भी शामिल हैं। रविवार रात को बोटाद में जहरीली शराब पीने के बाद करीब 4 दर्जन लोगों की तबीयत खराब हुई जिन्हें सोमवार सुबह अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाम होते-होते जहरीली शराब के कारण लोगों के मरने की खबर आने लगी। भावनगर रेंज आईजी अशोक यादव ने इस घटना की जांच के लिए एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन किया है। पुलिस उपाधीक्षक इसका नेतृत्व करेंगे।

उत्तराखंड: पौड़ी में दर्दनाक हादसा, बरसाती गदेरे में नहाने गए 2 युवकों की डूबने से हुई मौत

घटना के बाद पुलिस ने 10 लोगों को नकली शराब बनाने और बेचने के आरोप में 10 लोगों को हिरासत में ले लिया है। गुजरात के डीजीपी आशीष भाटिया का कहना है कि हिरासत में रखे गए सभी लोगों की पूछताछ की जा रही है। एक मृतक की पत्नी का कहना है कि उसके पति की तबीयत रविवार रात को नकली शराब पीने के बाद बिगड़नी शुरू हुई। गुजरात के बोतड़ जिले के रोजिंद, अणीयाणी, आकरू, चंदरवा, उंचडी गांवों के लोगों की जहरीली शराब पीकर बीमार होने की खबर है। सभी गावों में कोहराम मचा हुआ है। इस मामले में पुलिस अब दावे कर रही है कि मारे गए लोगों ने शराब नहीं सीधा केमिकल पिया था. पुलिस बता रही है कि पूरी साजिश तीन लेयर में रची गई।

पुलिस के मुताबिक ईमोस कंपनी मिथाईल के बिजनेस से जुड़ी है। ईमास कंपनी के गोदाम मैनेजर जयेश उर्फ राजू की संदिग्ध भूमिका बताई जा रही है। राजू को पुलिस ने अहमदाबाद में हिरासत में लिया है। राजू ने गोदाम से केमिकल को गोदाम से निकाला था। पुलिस के मुताबिक जयेश ने अपने रिश्तेदार संजय को 60 हजार रुपये में 200 लीटर मिथाइल दिया। इसके बाद संजय, पिंटू और बाकी लोगों ने इस केमिकल से शराब न बनाकर सीधा केमिकल के पाउच ही शराब के नाम पर लोगों को दे दिए। यही केमिकल पीने से लोगों की मौत हुई है।



Related Articles

Back to top button