उत्तराखंडरामनगर

उत्तराखंड : फौजी भाई बना हत्यारा, अपनी बहन की मौत का लिया बदला

उत्तराखंड के रामनगर में बहन की खुदकुशी का बदला लेने के लिए सैन्यकर्मी भाई ने व्यापारी को ठिकाने लगा दिया और खुद जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गया है। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि बहन की खुदकुशी के लिए वह व्यापारी को ही जिम्मेदार मानता था। एसपी सिटी हरबंस सिंह ने बताया कि हत्यारोपी सैन्यकर्मी भरत आर्य के पिता की चोरपानी में लोहार की दुकान है। दुकान के बगल में ही सुहेल सिद्दीकी की स्टेशनरी की बीते दस साल से दुकान है। हत्यारोपी ने बताया कि सेना में जाने से पहले वह कभीकभार सुहेल की दुकान पर बैठ जाता था और उसके छोटे-मोटे काम कर देता था। इस वजह से दोनों में अच्छी बोलचाल थी।

उत्तराखंड : 9वीं की छात्रा का अपहरण कर किया गैंगरेप, मांस खाने का बनाया दबाव..

इस बीच उसकी छोटी बहन सुहेल के कुत्तों के लिए घर से रोटी आदि बनाकर ले जाने लगी। इस बात का गलत फायदा उठाकर उसने उसे अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। 2017 में बहन को सुहेल के दूसरी लड़की से प्रेम प्रसंग के बारे में पता चला तो उसने दुखी होकर जहर खाकर आत्महत्या कर ली। इसके कुछ समय बाद सुहेल बहन की मौत को लेकर उस पर गलत कमेंट करता था। भरत के अनुसार, उस समय घर की आर्थिक स्थिति खराब थी। उन दिनों नौकरी की शुरुआत थी और वह ट्रेनिंग पीरियड में था। हत्यारोपी भरत ने बताया कि कुछ समय पहले उसने सुहेल की हत्या करने की ठान ली। इस बार 14 जुलाई को एक महीने की छुट्टी लेकर आया था।

घर आने के 3-4 दिन बाद जब वह पिता की दुकान पर गया तो सुहेल ने उसे उपहास भरी नजर से देखा। इस पर उसकी नाराजगी और बढ़ गई। उसने सुहेल की हत्या के लिए अपने दोस्त दिनेश टम्टा को तैयार किया। उसके बाद दो अगस्त की रात उन्होंने घटना को अंजाम दे दिया। स्टेशनरी व्यापारी सुहेल सिद्दीकी (35) पुत्र नासिर सिद्दीकी का दो अगस्त की रात कार सवारों ने अपहरण कर लिया था। सुहेल के भाई जुनैद की तहरीर पर पुलिस ने अपहरण की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी थी। व्यापारी की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरों में एक ऑल्टो कार (यूपी-16एल-0115) से बाइक को टक्कर मारने और व्यापारी को कार में डालने की घटना कैद हुई।

उसका शव मुरादाबाद थाना क्षेत्र के छजलैट से बरामद हुआ। मृतक की पहचान छुपाने के लिए उसका चेहरा जला दिया गया था। पुलिस ने हत्या के आरोप में एक सैन्यकर्मी को गिरफ्तार किया है जबकि उसका साथी फरार है। हत्यारोपी की निशानदेही पर कार, लोहे की रॉड और व्यापारी की बाइक बरामद कर ली गई है। कोर्ट में पेश कर आरोपी को जेल भेज दिया है। इधर, मुरादाबाद में पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।



Related Articles

Back to top button